First News 24×7
  • Home
  • राज्य
  • उत्तर प्रदेश
  • महोबा: पुलिस का अमानवीय चेहरा, 6 वर्षीय मासूम के साथ ‘कुकृत्य’ के आरोपियों पर खाकी क्यों मेहरबान?
उत्तर प्रदेश राज्य

महोबा: पुलिस का अमानवीय चेहरा, 6 वर्षीय मासूम के साथ ‘कुकृत्य’ के आरोपियों पर खाकी क्यों मेहरबान?

महोबा: उत्तर प्रदेश के महोबा जिले के खन्ना थाना की पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है, जहां एक 6 वर्षीय मासूम के साथ कुकृत्य करने के आरोपियों पर पुलिस मेहरबान है. वहीं खाकी के इस ढुलमुल रवैया से पीड़ित परिवार बुरी तरह से डरा हुआ है. हालांकि, अब महोबा न्यायालय के आदेश से पीड़ित पक्ष को न्याय की उम्मीद जागी है.

आपको बता दें कि 16/03/2021 प्रकीर्ण वाद (भ्रामक मुकदमा) सुनवाई हेतु नियत है. कोर्ट ने आवेदिका के विद्वान अधिवक्ता को सुना और पत्रावली का सम्यक परिशीलन किया. आवेदन के निस्तारण की दृष्टि से अभिलेख का अवलोकन किया. यह आवेदन पत्र आवेदिका के द्वारा विपक्षीगण बौरा पुत्र पन्ना कुशवाहा, मंगल पुत्र पुन्ना और बाबूराम पुत्र पुन्ना निवासी ग्राम बरभोली थाना खन्ना, जिला महोबा के विरुद्ध प्रस्तुत किया गया है.

आवेदिका का आरोप-

गौरतलब है कि 6 वर्षीय मासूम के साथ कुकृत्य करने की घटना दिनांक 02/09/2020 समय करीब 2:30 बजे दिन की है. प्रार्थिया जब अपने घर पर थी, उसकी पुत्री (उम्र 6 वर्ष) दरवाजे पर खेल रही थी. उसी समय गांव का बौरा पुत्र पुन्ना कुशवाहा टॉफी खिलाने का लालच देकर सुनसान जगह पर ले गया और पुत्री की चड्डी खोलकर उसके गुप्तांग पर उंगली डाल दिया, जिससे बच्चे की गुप्तांग से खून बहने लगा.

प्रार्थिया अपनी नाबालिग पुत्री के चीखने और रोने की आवाज सुनकर मौके पर पहुंची तो आरोपी उसी हालत में बच्ची को छोड़कर जान से मारने की धमकी देते हुए भाग खड़ा हुआ.

घटना के बाद प्रार्थीया आरोपी के घर उलहना देने गई तो घर में मौजूद उसके भाई मंगल व बाबू राम पुत्रगण पन्ना ने उसे गाली-गलौज कर के भगा दिया. इसके बाद प्रार्थिया घटना के संबंध में सूचना देने थाना खन्ना गई तो पुलिस ने भी डांट-डपट कर भगा दिया.

प्रार्थिया की अभी तक रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है, इतना ही नहीं प्रार्थिया के अनुसार उसने शासन-प्रशासन के आला अधिकारियों से भी कई बार शिकायत की, जिससे कोई कार्रवाई तो नहीं हुई, लेकिन शिकायत की खुन्नस की वजह से दिनांक 06/ 02/2021 को अभियुक्त गण ने प्रार्थिया के साथ मारपीट कीऔर जान से मारने की धमकी दी.

वहीं थाना खन्ना की पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. प्रार्थिया ने उपरोक्त घटना के संबंध में पुलिस अधीक्षक महोबा को रजिस्टर्ड डाक से सूचना प्रेषित की थी, जिस पर भी कोई कार्यवाही नहीं हुई है. आखिरकार मजबूरन पीड़ित पक्ष को उपरोक्त विपक्षीगण के विरुद्ध कार्रवाई करने की आशा में कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ा.

कोर्ट में प्रार्थिया के विद्वान अधिवक्ता उमेश यादव ने मामले में उचित धाराओं में रिपोर्ट दर्ज करा कर विवेचना कार्य कराए जाने की अपील की है. जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है. कोर्ट ने थाना अध्यक्ष खन्ना को मामले में एफआईआर दर्ज करने के लिए आदेशित किया है. आवेदन पत्र के समर्थन में शपथ पत्र प्रस्तुत किया गया था.

आवेदिका द्वारा सूची से शिकायती प्रार्थना पत्र पुलिस अधीक्षक महोबा, रजिस्टर्ड डाक रशीद, शिकायत पर्ची थाना खन्ना, पीड़ित बच्ची के आधार कार्ड की छाया प्रति और स्वयं की आधार कार्ड की छाया प्रति दाखिल की गई थी.

कोर्ट ने अभिलेख का अवलेकन कर कहा, पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक उक्त प्रार्थना पत्र के संबंध में थाना स्थानीय पर कोई अभियोग पंजीकृत नहीं है. विपक्षी बौरा के विरुद्ध आवेदिका नाबालिग नातिन को टाफी खिलाने का लालच देकर सुनसान जगह पर लेकर जाने और वहां पर पीड़िता की चड्डी खोल कर उसके गुप्तांग पर उंगली डालने व बच्ची के गुप्तांग से खून बहने का दोषारोपण है

अभियुक्तगण आवेदिका के साथ मारपीट , गाली-गलौज करने व जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप है. आवेदन पत्र के अभिकथनों के उपरोक्त विवरण से साफ है कि प्रथम दृष्टया संगेय अपराध होना दर्शित हो रहा है. अतः आवेदन पत्र स्वीकार किए जाने योग्य है.

कोर्ट का आदेश
आवेदन पत्र 4क का स्वीकार किया जाता है. थाना अध्यक्ष पुलिस थाना खन्ना को आदेशित किया जाता है कि मामले में अभियोग पंजीकृत कर विधि अनुसार विवेचना करना सुनिश्चित करें और 2 माह के अंदर धारा 173 (2) दंड प्रक्रिया संहिता की रिपोर्ट न्यायालय में प्रस्तुत करें. आवेदन की प्रति आवेदन पत्र 4क अंतर्गत धारा 156 (3) सहित अनुपालन हेतु थाना खन्ना को प्रेषित हो. रिपोर्ट – महेश कुमार यदुवंशी

Related posts

गृहमंत्री अमित शाह कोरोना पॉजिटिव, डॉक्टर की सलाह पर मेदांता अस्पताल में भर्ती

First News 24x7

कानपुर में दर्दनाक हादसा, सिलेंडर लीकेज होने से लगी आग

First News 24x7

राम मंदिर भूमि पूजन : 92 के दंगे में घर बार खो चुके सैय्यद आसिफ बोले- हम चाहते हैं “अयोध्या में राम राज्य”

First News 24x7

एक टिप्पणी छोड़ें