First News 24×7
  • Home
  • देश
  • कामाख्या माता के शरीर से क्या रक्त निकलता है? जानिए रहस्य
देश

कामाख्या माता के शरीर से क्या रक्त निकलता है? जानिए रहस्य

माता की शक्ति में विश्वास रखने वाले यहां आकर अपने आप को धन्य मानते हैं। जिन लोगों को  ईश्वरीय सत्ता पर यकीन नहीं है वह भी यहां आकर माता के चरणों में शीश झुका देते हैं और देवी के भक्त बन जाते हैं। यह स्थान है कामरूप जिसे वर्तमान में असम के नाम से जाना जाता है।

असम के नीलांचल पर्वत पर समुद्र तल से करीब 800 फीट की ऊंचाई पर यहां देवी का एक मंदिर है जिसे कामख्या देवी मंदिर कहते हैं। देवी के 51 शक्तिपीठों में से यह भी एक है। माना जाता है कि भगवान विष्णु ने जब देवी सती के शव को चक्र से काटा तब इस स्थान पर उनकी योनी कट कर गिर गयी।

इसी मान्यता के कारण इस स्थान पर देवी की योनी की पूजा होती है। प्रत्येक वर्ष में तीन दिनों के लिए यह मंदिर पूरी तरह से बंद रहता है। माना जाता है कि माँ कामाख्या इस बीच रजस्वला होती हैं और उनके शरीर से रक्त निकलता है। इस दौरान शक्तिपीठ की अध्यात्मिक शक्ति बढ़ जाती है।

चौथे दिन माता के मंदिर का द्वार खुलता है। माता के भक्त और साधक दिव्य प्रसाद पाने के लिए बेचैन हो उठते हैं। यह दिव्य प्रसाद होता है लाल रंग का वस्त्र जिसे माता राजस्वला होने के दौरान धारण करती हैं। माना जाता है वस्त्र का टुकड़ा जिसे मिल जाता है उसके सारे कष्ट और विघ्न बाधाएं दूर हो जाती हैं।

 

 

 

Related posts

पीएम मोदी और अमित की बैठक, 31 मई को पीएम मोदी मन की बात में देश को करेंगे संबोधित

First News 24x7

Asia की सबसे बडी आबादी वाली खाेडा काॅलाेनी में करोना पॉज़िटिव मरीज़ मिलने से मचा हड़कम्प

First News 24x7

HIMACHAL EARTHQUAKE: 3.5 की तीव्रता से भूकंप के झटके

First News 24x7

एक टिप्पणी छोड़ें